gandhi jayanti whatsapp status video

mahatma gandhi nibandh 2020 whatsapp status

mahatma gandhi jayanti :-

You are welcome in my website, you will be provided mahatma gandhi jayanti whatsapp status   in this post. mahatma gandhi nibandh in hindi english below scroll down.Hearty congratulations to all of you gandhi jayanti

mahatma gandhi jayanti WHATSAPP STATUS IMAGES

:-

mahatma gandhi jayanti

gandhi jayanti whatsapp status video

mahatma gandhi jayanti

mahatma gandhi jayanti

mahatma gandhi jayanti

 whatsapp status video download

mahatma gandhi jayanti

mahatma gandhi jayanti

 

mahatma gandhi nibandh english

Mahatma Gandhi had three monkeys: –

1 don’t look bad
Don’t listen 2 bad
3 do not mind

‘Gave us freedom, without shield, without shield.
Saint of Sabarmati, you did amazing

Preface :-

The Father of the Nation, Mahatma Gandhi, is also revered among the great women and men of our country who have done such ideal works for the country that the people of India will always remember. The Father of the Nation, Mahatma Gandhi, surrendered his whole body, mind and wealth to our freedom struggle. Mahatma Gandhi, the Father of the Nation, was a man of whom the whole world was respected. Father of the Nation Mahatma Gandhi was a non-violence plaintiff.

Mahatma Gandhi’s studies: –

This great man was born on 2 October 1869 at a place called Porbandar in Gujarat. Your full name was Mohandas. Your father Karmchand Gandhi was the Diwan of Rajkot. The father of the nation was Mahatma Gandhi’s mother Putlibai, she was a very simple gentle woman with a religious temperament. The impression of the mother’s character on Mohandas’s personality was evident. Which seems rare
After completing his elementary education in Porbandar, after passing the matriculation examination from Rajkot, he went to England for advocacy. Started advocating on return by advocating. You had to go to South Africa during a trial. Seeing the plight of Indians there, they were very sad.

The national spirit awakened in them and they got engage in the service of Indian. Gandhi started the Satyagraha movements against the devious policy and inhuman behavior of the British. He led the Non-Cooperation Movement and Civil Disobedience Movement.

mahatma gandhi’s precious words: –

Gandhiji used Satyagraha as his main weapon to express opposition from the British. Gandhi started the Satyagraha movements against the devious policy and inhuman behavior of the British in front of the truth, non-violent weapons. He led the Non-Cooperation Movement and Civil Disobedience Movement. He had to bow down in front of Gandhiji’s high command and truth and he left our country. Thus our country became independent on 15 August 1947.

mahatma gandhi  of other tasks :-

Gandhiji saved the untouchables. Named him ‘Harijan’. Strived to eliminate differences in language, caste and religion. Emphasized the use of indigenous goods. Taught to spin yarn, observe all religions with respect and adopt truth, non-violence in life. Gandhiji gave the message of peace to the world.

Bapu’s movement: –

Bapu had made many movements and all the movements were for the independence of the country which were successful. The beginning of the first movement can be said from 1919. In 1919, there was a movement against the Jallianwala Bagh scandal. In which the countrymen gave full support to Bapu. After that Gandhiji started the Salt Satyagraha which was successful. Salt Satyagraha was the most successful. This movement is also known as Dandi Yatra. The journey lasted for 26 days. Which started on 12 March 1930 and ended on 6 April 1930 in a coastal village of Dandi.

Epilogue :-

Gandhiji ruled the hearts of the people of India with a sense of love and brotherhood. They wanted to establish Ramrajya in the country. After India’s independence, the country was divided into two part – India and Pakistan. He was very sad about this.

It was our misfortune that we could not get the guidance of this leader for a long time after attaining independence and Gandhiji’s life was ended on 30 January 1948 with the bullet of a person named Nathuram Godse.

Mahatma Gandhi, the Father of the Nation, is no longer with us, but we will always remember his ideal principles. His name will remain immortal. Indians will never forget them.

Solicitation: –

We hope you liked the new mahatma gandhi jayanti 2020   whatsapp status provided by us, if you liked this post, then share this mahatma gandhi jayanti   whatsapp video images and subscribe for the latest update notification of similar status Thank you

DIWALI WHATSAPP STATUS VIDEO 2020

BEST WHATSAPP STATUS

LOVE WHATSAPP STATUS VIDEO

 

mahatma gandhi jayanti in hindi

                  हिंदी उपयोगकर्ता के लिए :-

महात्मा गाँधी
महात्मा गाँधी के तीन बन्दर थे :-
1 बुरा मत देखो
2 बुरा मत सुनो
3 बुरा मत करो

‘दे दी हमें आजादी, बिना खड्‍ग बिना ढाल।
साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल।

प्रस्तावना :-

राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी भी हमारा देश के महान स्त्रियों और पुरुषों में वंदनीय है जिन्होंने देश के लिए ऐसे आदर्श कार्य किए हैं जिन्हें भारतवासी की जनता सदा याद रखेंगे। राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी ने हमारी आजादी की लड़ाई में अपना तन-मन-धन परिवार सब कुछ अर्पण कर दिया। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी युग पुरुष थे जिनके प्रति पूरा विश्व आदर की भावना रखता था। राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी अहिंसा वादी थे |

महात्मा गाँधी की पढाई :-

इस महापुरुष का जन्म 2 अक्टूबर सन् 1869 को गुजरात में पोरबंदर नामक स्थान पर हुआ था। आपका पूरा नाम मोहनदास था। आपके पिता कर्मचंद गांधी राजकोट के दीवान थे। राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की माता पुतलीबाई थी वह धार्मिक स्वभाव वाली अत्यंत सरल सुशिल संस्कारी महिला थी। मोहनदास के व्यक्तित्व पर माता के चरित्र की छाप सुस्पष्ट दिखाई दी। जो दुर्लभ ही नजर आता है
प्रारंभिक शिक्षा पोरबंदर में पूर्ण करने के पश्चात राजकोट से मेट्रिक परीक्षा उत्तीर्ण कर आप वकालत करने इंग्लैंड चले गए। वकालत करके लौटने पर वकालत प्रारंभ की। एक मुकदमे के दौरान आपको दक्षिण अफ्रीका जाना पड़ा। वहां भारतीयों की दुर्दशा देख बड़े दुखी हुए।

उनमें राष्ट्रीय भावना जागी और वे भारतवासियों की सेवा में जुट गए। अंग्रेजों की कुटिल नीति तथा अमानवीय व्यवहार के विरुद्ध गांधीजी ने सत्याग्रह आंदोलन आरंभ किए। असहयोग आंदोलन एवं सविनय अवज्ञा आंदोलन का नेतृत्व किया।

बापू का अनमोल वचन :-

गांधीजी ने अंग्रेजों से विरोध को प्रकट करने के लिए सत्याग्रह को अपना प्रमुख अस्त्र बनाया। सत्य, अहिंसारूपी अस्त्रों के सामने अंग्रेजों की कुटिल नीति तथा अमानवीय व्यवहार के विरुद्ध गांधीजी ने सत्याग्रह आंदोलन आरंभ किए। असहयोग आंदोलन एवं सविनय अवज्ञा आंदोलन का नेतृत्व किया। गांधीजी के उच्चादर्शों एवं सत्य के सम्मुख उन्हें झुकना पड़ा और वे हमारा देश छोड़ चले गए। इस प्रकार हमारा देश 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र हुआ।

अन्य कार्य :-

गांधीजी ने अछूतों का उद्धार किया। उन्हें ‘हरिजन’ नाम दिया। भाषा, जाति और धर्म संबंधी भेदों को समाप्त करने का आजीवन प्रयत्न किया। स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग पर जोर दिया। सूत कातने, सब धर्मों को आदर से देखने और सत्य, अहिंसा को जीवन में अपनाने की शिक्षा दी। गांधीजी ने विश्व को शांति का संदेश दिया।

बापू का आंदोलन :-

बापू ने कई आंदोलन किए थे और सारे आंदोलन देश को आजादी दिलाने के लिए थे जो सफल हुए थे। पहले आंदोलन की शुरुआत 1919 से कहा जा सकता है। 1919 में जलियावाला बाग कांड के विरोध में आंदोलन हुआ था। जिसमें देशवासियों ने बापू का पूरा साथ दिया था। उसके बाद गांधी जी ने नमक सत्यग्रह की शुरुआत की जो सफल रहा। सबसे ज्यादा सफलता नमक सत्यग्रह को मिली। इस आंदोलन को दांडी यात्रा के नाम से भी जाना जाता है। यह यात्रा 26 दिनों तक चली थी। जो 12 मार्च 1930 को शुरु हुई थी और 6 अप्रैल 1930 को दांडी के एक तटीय गांव में समाप्त हुई थी।

उपसंहार :-

गांधीजी ने प्रेम और भाईचारे की भावना से भारत की जनता के हृदय पर राज किया। वे देश में रामराज्य स्थापित करना चाहते थे। भारत की आजादी के पश्चात देश दो टुकड़ों में विभाजित हुआ- भारत-पाकिस्तान। इस बात का उन्हें बहुत दुख पहुंचा।

हमारा दुर्भाग्य था कि इस नेता का मार्गदर्शन हम स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद अधिक समय तक नहीं पा सके और नाथूराम गोड़से नामक व्यक्ति की गोली से 30 जनवरी 1948 को गांधीजी की जीवनलीला समाप्त हो गई।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधीजी आज हमारे बीच नहीं हैं, किंतु उनके आदर्श सिद्धांत हमें सदैव याद रहेंगे। उनका नाम अमर रहेगा। उन्हें भरतवासी कभी नहीं भूलेंगे |

विनती :-

हमे आशा है की हमारे द्वारा प्रदान नई व्हाट्सप्प स्टेटस फोटो आपको पसंद आया होगा अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया तो इस व्हाट्सप्प स्टेटस फोटोज को शेयर करे और इसी तरह के स्टेटस की लेटेस्ट अपडेट नोटिफिकेशन के लिए सब्सक्राइब करे धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *